MMS Full Form in Hindi | MMS का क्या मतलब होता हैं?

जैसा की आपलोग समझ ही गए होंने की आज हम किस टॉपिक पर बात करने वाले हैं, MMS का फुल फॉर्म क्या हैं? इसका मतलब क्या होता हैं? MMS का पूरा नाम क्या हैं? जितने भी इससे संबंधित प्रश्न हैं उन सभी का उत्तर आपको इस आर्टिकल में मिल जाएगा। क्योकि MMS Full Form in Hindi के विषय में सभी जानकारी आज आपलोगो के साथ साझा करेंगे।

MMS के अलावा हमने SMS के बारे में विस्तार से बताया हैं, उदाहरण के तौर SMS क्या हैं? इसका इतिहास और अन्य बातों को हमने इस लेख में उल्लेख किया हैं हमे उमीद हैं कि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी उपयोगी साबित होगी। तो चलिए अब शुरू करते हैं-

क्या हैं MMS? What is MMS in Hindi

आपलोगो को इसका फुल फॉर्म के बारे में जानकारी दूं,उससे पहले हम आपको एमएमएस क्या हैं उस विषय में आपके साथ जानकारी साझा करते हैं। इसका अर्थ होता हैं ”मल्टीमीडिया मैसेजिंग सर्विस” इसकी मदत से आप किसी को भी Text, Video, Audio & Image Send और Receive कर सकते हैं, एसएमएस के जैसा ही यह भी कार्य करती हैं

परंतु उससे ज्यादा बेहतर हैं निचे आपको इन दोनो के बारे जानकारी प्राप्त हो जाएगी। आपको लगता होगा, की इस फीचर यानि MMS किसी भी डिवाइस से भेज सकते हैं तो ऐसा बिलकुल भी नही हैं यह विशेष सुविधा कुछ ही डिवाइस में उपलब्ध हैं। जैसे Mobile phone, Smart Phone, Table and Computer.

MMS Full Form in Hindi | MMS का फुल फॉर्म

आपके जानकारी के लिए बता दें कि एमएमएस का फुल फॉर्म Multimedia Messaging Service (मल्टीमीडिया मैसेजिंग सर्विस) होता हैं एवं इसे ”मल्टीमीडिया संदेश सेवा” हिंदी में कहते हैं।

  • M – Multimedia
  • M – Messaging
  • S – Service
  • एमएमएस – मल्टीमीडिया संदेश सेवा

आपलोगो को SMS के विषय में जानकारी जरूर होगा, और आपको लगता होगा की MMS भी SMS के तरह हैं तो आपको बता दें, कि ये SMS से अलग हैं, SMS की मदत से वेकल Text ही भेजा और प्राप्त कर सकते थे, लेकिन अब आप MMS की मदत से टेक्स्ट, ऑडियो वीडियो और इमेज भेज तथा प्राप्त कर सकते हैं।

MMS और SMS में क्या अंतर हैं?

SMS का मतलब Short Messaging Service होता हैं इसका अभिष्कार वर्ष 1980 में हुआ था, यह तकनीक बहोत पुरानी हैं लेकिन इसका इस्तेमाल आजभी किया जा रहा हैं। MMS की सहायता से क्या सब भेजा ओर प्राप्त किया जाता है उसके बारे में हमने पहले ही जिक्र कर चुके हैं।

MMS एवं SMS का विश्व में उपयोग इस्तेमाल

इसका उपयोगकर्ता अमेरिका में सबसे अधिक हैं, अगर संयुक्त राज्य अमेरीका की बात करें तो 6 बिलियन से अधिक टेक्स्ट मैसेज का Users केवल यही है। एवं iPhone उपयोगकर्ताओं की संख्या बढ़ती ही जा रही हैं पिछले कई वर्षो से इसकी उपयोगकर्ताओं बहोत अधिक हो गई हैं।

यूएस में वर्ष 2010 से 2013 तक टेक्स्ट उपयोगकर्ताओं की संख्या 57 बिलियन से Increase होकर 97 बिलियन हो चुकी हैं, प्रतिदिन अमेरिका में 67 टेक्स्ट आदान-प्रदान किया जाता हैं जोकि 18 वर्ष से 24 वर्ष के Users शामिल हैं।

MMS का इतिहास

SMS का उद्दतन (Updated) Version MMS हैं।एमएमएस 1984 में कैप्टिव तकनीक के रूप में पहली बार विकसित किया गया, उसके बाद इसका प्रयोग 2002 में Sony Ericsson T68i से स्मार्टफोन में किया जाने लगा, जोकि जीएसएम नेटवर्क (GSM network) Based हैं,

वर्ष 2004 से 2005 में उत्तरी अमेरिका में इसका इस्तेमाल अति तेजी से किया जाने लगा, तबसे पुरा विश्व में इसका उपयोग किया जाने लगा, और आज यह इतना पॉपुलर हो चुका हैं कि केवल अमेरिका में 67 टेक्स्ट प्रतिदिन अदल-बदल किया जाता हैं।

MMS से हानि तथा लाभ

इसके बारे में आपलोगो को बहोत जानकारी दे दिया हैं अब थोड़ी इससे होने वाला लाभ और हानि के विषय में भी जिक्र कर लेते हैं। जहां हमे लाभ देखने को मिलती हैं वहां पर कोई न कोई हानि भी जरूर होती हैं भले ही उससे होने वाला लाभ की अपेक्षा कम हो।

MMS के हानि

आपको बड़े File अटैच करके भेजने पर, अधिक वक्त लग सकता हैं। इसमे जितना सुरक्षा होना चाहिए, उतना नही हैं इसलिए इस मामला में आपके डेटा के साथ थोड़ी असुविधा की कमी हैं। इससे होने वाल ज्यादा क्षति नही हैं। अगर आपको अपने मोबाइल में MMS On करना हैं तो निचे बताइ गए, बातें को ध्यानपूर्वक पढ़े।

MMS के फायदे

इससे होने वाला फायदे बहोत हैं जिसका विवरण कुछ इस प्रकार हैं। एमएमएस से सबसे बड़ा होने वाला लाभ हैं, टेक्स्ट के साथ वीडियो एवं ऑडियो के साथ भेज तथा प्राप्त कर सकते हैं, यही SMS की बात करें तो इसमे केवल टेक्स्ट ही आदान प्रदान कर सकते हैं। 160 कैरेक्टर से अधिक टेक्स्ट लिख कर, फाइल अटैच करके भेजा जा सकते हैं।

How to Send MMS (MMS कैसे भेजे)

जितना सरल SMS भेजना हैं, उतना ही सहज MMS Send करना हैं।

  • अपने मोबाइल में मैसेज एप्प ओपन करें।
  • अब आप Plus का Icon पर क्लिक करें।
  • इसके बाद Recipient सिलेक्ट करें, इसका अर्थ हैं कि जिसे भी आप MMS भेजना चाहते हैं उसका चयन करें।
  • जहां आपको Text message बॉक्स दिखाई दे रहा होगा, उसके बायी तरफ एक प्लस चिह्न का विकल्प हैं उस पर Click कीरिए।
  • आप उस ऑप्शन पर आ चुके हैं जो अपने आकांक्षा अनुसार Videos, Audio & Image etc Select करके भेज सकते हैं।
  • जोभी आप भेजना चाहते हैं उसे सिलेक्ट करें, उसके बाद आप टेक्स्ट मैसेज बॉक्स में कुछ लिखना चाहते हैं तो लिख सकते हैं, अन्यथा Send पर क्लिक करे।

SMS क्या है?

अभी तक हमने आपको MMS के बारे में बताए हैं चलिए अब SMS के बारे में भी पूरी जानकारी आपके साथ साझा करते हैं। SMS का full form “Short Message Service” होता हैं जोकि text मैसेज का formal नाम होता हैं। आपको बता दें कि यह ऐसे तरीका हैं जिससे short केवल text को मैसेज के रूप में एक मोबाइल से दुसरे मोबाइल तक भेजता हैं यह text message cellular data network के सहायता से भेजा जाता हैं।

वही अगर बात करे, SMS के द्वारा भेजा जाने वाला मैसेज का character कितना limit तक होती हैं तो उस समय के तकनीक के अनुसार मैसेज की 160 characters होती थी जिसमे spaces भी शामिल होते हैं जोकि SMS नाम को परिभाषित किया गया था। सेल फोन जिसे मोबाइन फोन और हाथ फोन भी कहा जाता हैं उसी नेटवर्क के आधार पर यह कार्य करता था यह लगभग 1980 के दशक की बात हैं।

SMS का इतिहास

एसएमएस क्या है? उसके बारे में आपने ऊपर के सेक्शन में जाना हैं चलिए अब इसके इतिहास के बारे में भी थोड़ी चर्चा कर लेते हैं। सन 1984 में Franco German GMS Cooperation ने SMS विचार को develop किया था और सबसे पहले Friedhelm Hillebrand (फ्राइडहेल्म हिलेब्रांड) और Bernard Ghillebaert (बर्नार्ड गिलेबर्ट) ने वर्ष 1992 में Neil Papworth (नील पापवर्थ) के द्वारा एसएमएस भेजा गया था। इसे थोड़ा और अच्छे से समझते हैं-

3 दिसंबर 1992 में नील पापवर्थ ने दुनिया का पहला टेक्स्ट मैसेज भेजा था। उससे पहले नील पापवर्थ अपने ग्राहक के लिए एक short message का निर्माण करने के लिए एक डेवलपर एवं परीक्षण इंजीनियर के रूप में कार्य कर रहा था। आपको मजेदार बात बताऊं, नील पापवर्थ ने दिसंबर 3, 1992 में पहला मैसेज भेजा था और उसमे केवल “Merry Chrestmas” हि लिखा

उसके अगले वर्ष Nokia ने आने वाले message signal के लिए एक एसएमएस फीचर पेश किया। उसके सात साल बाद 1999 में, एसएमएस मैसेज को कई नेटवर्क के साथ टेक्स्ट मैसेज को आदान-प्रदान किया जाने लगा। वही आज दुनिया भर में लाखों लोगों द्वारा टेक्स्ट मैसेज भेजे जाते हैं।

SMS के आविष्कार पर नील पापवर्थ ने कहा?

नील पापवर्थ ने इस बात को जिक्र करते हुए कहा, सन 1992 में, मुझे पता नही था कि texting (SMS) इतना लोकप्रिय हो जाएगा, और लोखों लोगों द्वारा इसका इस्तेमाल किया जाने लगेगा, और इतना सारे मैसेजिंग एवं इमोजी ऐप का जन्म देगी। नील ने कहा मैंने वह पहला पाठ (Merry Christmas) भेजा हैं पीछे मुड़कर देखने पर मुझे यह स्पष्ट देखने को मिलता हैं कि मैंने जो क्रिसमस संदेश भेजा था वह मोबाइल इतिहास में एक महत्वपूर्ण पल था।

Instant Messaging क्या है?

हमने आपको टेक्स्ट messaging से रिलेटेड केवल दो ही तरह के टेक्स्ट मैसेग के बारे में बताया हैं चलिए अब आपको एक और टेक्स्ट मैसेज भेजे जाने वाला तकनीक विषय में जानते हैं। Instant messaging (IM) की तकनीक इस तरह है कि इसके द्वारा ऑनलाइन चैट होती हैं

MMS Full Form in Hindi Video



FAQs

MMS Full Form in Hindi Mein? 2023

एमएमएस का हिंदी में फुल फॉर्म मल्टीमीडिया संदेश सेवा होता हैं।

MMS Full Full Form in English?

Multimedia Messaging Service फुल फॉर्म होता हैं English में।

Full Form of SMS?

एसएमएस का फुल फॉर्म Short Messaging Service होता हैं।

MMS Full Form in Computer?

M – Microsoft
M – Media
S – Server

MMS Full Form Education?

Education में इसका फुल फॉर्म Masters in Management Studies हैं।

निष्कर्ष

हमारा हमेशा से यही उद्देश्य रहा हैं कि हम अपने पाठकों को पूरी जानकारी एक ही जगह उपलब्ध किए है। यदि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी उपयोगी हुई हो, तो इसे शेयर जरूर करें। इस लेख में MMS के सम्बद्ध में कुछ जानकारी नहीं दे सका, लेकिन आपके अनुसार इस लेख मे वो जानकारी होना चाहिए तो आप हमे बता सकते हैं, हम उस जानकारी को इस लेख में Update कर देंगे।

सुनील पासवान इस ब्लॉग के संस्थापक और कंटेंट लेखक हैं, मेरे बारे में अधिक जानने के लिए, About Us पेज पर जाएँ। धन्यवाद

Leave a Comment